Skip to main content

Posts

Showing posts from November, 2022

स्वयं पर नियंत्रण कैसे रख सकते है? swayam par niyantran kaise rakh sakte hai

खुद को नियंत्रित कैसे रख सकते है |   जीवन में हम हमेशा किसी कार्य को लेकर या कुछ ऐसा हमारे साथ गठित हो जाता है जिससे हम स्वयं को नियंत्रित नही कर पाते है | हम ऐसे परिस्थिति में कुछ गलत कदम उठा लेते है ऐसे में हमे क्या करना चाहिए | उसके लिए हम कुछ टिप्स आपसे शेयर करेंगे |                   हमे हमारी मनः स्थति को सय्यमित रखने के लिए  हमे सबसे पहले धैर्य रखना चाहिए | धैर्य आपकी उस स्थति के परिणाम को कुछ अच्छी जगह पर ही लेकर ही जायेगा | इसलिए जब भी कुछ ऐसी विपरीत परिस्थितियां बनती है उसमे हमे घबराना नहीं चाहिए | हड़बड़ाहट में हम हमेशा कुछ न कुछ गलती कर बैठते है | इसलिए कुछ भी ऐसा होने पर या तो क्रोध को स्वयं पर हावी न होने दे या दुःख की परिस्थिति बनती है तो स्वयं को ऐसा फील होने से रोके की में अंदर से टूट चूका हु या अब में कुछ नहीं कर सकता हूँ |        हमारे मन में उस कमी को जिसे हम पाना चाहते है या किसी चीज जिसे हमे पाने क लिए प्रयास किया था उसके खोने या कम होने पर मन में ये विचार लाना चाहिए की जो गया हे शायद वो हमारे लिए ठीक नहीं था मुझे जिंदगी उससे भी कुछ अच्छा देने जा रही है इसी लि

How is life raised to a higher position?

 How is life raised to a higher position? There are ups and downs in life, but if we want to take life to a higher place, then we have to mold ourselves according to it, walk according to it, eat according to it, do exactly what we do not get easily. Achieving high heights in life is the result of hard work, the hard work done will lead you towards success. focus on your goal We should not always deviate from our goal. When our goal is in front of us then we can easily move towards our goal, our attention should be focused in one place so that we do not deviate from our goal.

How to be patient? What are its benefits?

 How to be patient? When we wish something from a person or want to get some work done and the person in front does not do that work, then our mind gets angry for not getting that work done, then in such a situation we should be patient. By keeping patience, our behavior with the person in front and the thoughts that arise in the mind of the person in front of us are harmful for us in life.       To keep patience, one should consider how to correct what has happened by keeping the mind calm. When an angry person does, then the work done in anger is always harmful. That's why one should never get angry and be patient. What are the benefits of being patient? By having patience, a person will go away from fighting and quarreling. People who have patience never make wrong decisions. When we will work with patience, then we can think well, due to which the work becomes good due to our right decision.

कोशिश करने वालों की कभी हार कैसे नहीं होती है ?|| Koshish Krne Walon ki Kabhi Har Kaise Nhi Hoti Hai

 मेंढक की कोशिश  विज्ञानं कहता है की मेंढक कभी भी पानी में मर नहीं सकता है,जमींन के निचे दब जाने से भी नहीं मर सकता है|            एक बार क्या होता है की दो मेंढक एक दही के बर्तन में गिर जाते है , दही में से बाहर निकना बहुत मुश्किल रहता है ,एक मेंढक ने यह सोच सोच कर की अब हमें मरना है हमारा क्या होगा ये सोच सोच कर ही दम तोड़ दिया|      दूसरे मेंढक ने सोचा मरना तो है ही है तो बाहर निकले के कोशिश करना शुरू कर दिया ,चारो पैरों से इतनी ताकत से इधर से उधर उछाला, उधर से इधर ,पांव को जोर जोर से बाहर निकलने के लिए हिलाता है,जिससे दही गाढ़ा हो गया है और बर्तन में ऊपर आ गया और सीधा मेंढक बाहर |          एक ने कोशिश जिंदगी की जंग जीत गया जहां उसने सोचा ही नहीं था क ऐसा भी होता है ,ठीक दूसरे ने कोशिश भी नहीं करी और दम तोड़ दिया |          कहने का मतलब यही था कोशिश करिये सफलता जरूर मिलेगी|                         

कर्ज लेने से क्या क्या नुकसान होते हैं? Karj lene se kya Kya nuksan hote h

कर्ज लेने से जीवन पर क्या प्रभाव पढ़ता है? कर्ज लेने से सही तरिके से सही योजना से ना लिया हुआ कर्ज जीवन पर विपरित प्रभाव डालता है। आदमी उन्नति की जगह कर्ज के दल दल में फसने लगते है और एक समय ऐसा आता है जिससे उसकी जमीन जायदाद सब बिक जाती है। इसलिए कर्ज जब भी ले सोच समझ कर लेना चाहिए।          जब अत्यधिक कर्ज होने पर प्रतिदिन कोई ना कोई कर्ज लेने या कॉल करके दिन भर आप को उसके लिए परेशान करता रहेगा, जिस कारण आप जो कार्य कर रहे है उसको पूरी लगन से ना कर पायेंगे। कार्य सही से ना होने पर उधर भी व्यवसाय में नुकसान व ईथर भी कर्जा बढ़़ रहा है तो अन्त में व्यक्ति को कुछ गिरवी या बेचने की नौबत आ जाती है। कर्ज लेने या चुकाने का सही तरिका क्या है? Karj chukane LA sahi tarika  हमें कर्ज उतना ही लेना चाहिए जितना हमारे व्यवसाय के फायदे में से थोड़ा थोड़ा करके मूल राशि व ब्याज दोनों जमा होते रहे, व व्यवसाय में आवश्यक सामग्री की कमी भी पैसे के अभाव में कम ना पढ़े।जिससे हम किसी भी प्रकार से मासिक या साप्ताहिक या जैसे भी हो हमारी राशि जमा करवा सकते है।             कर्ज हमारी क्षमताओं से अधिक नहीं लेना चाह

ज़िन्दगी को जीने का सही तरिका क्या है? || Zindgi Ko Jine Ka Sahi Tarika Kya h

 ज़िन्दगी जीने का तरिका ज़िन्दगी जीने का सही तरिका स्वयं व अपनों की खुशी के साथ जिया जाता है। जब तक जीवन में खुशियां नहीं होती है, हम जो चाहे उस अनुरुप सभी ना हो परन्तु जिसको करने से हमें भी और दूसरों को भी खुशियां मिले वो असल में ज़िन्दगी जीने का सही तरिका है।           जब हम खुशियों को पाने के लिए या किसी अन्य को चोंट पहूंचाकर खुशी पाने का प्रयास अगर कर रहे हैं तो उससे दिल को खुशी मिलेगी पर मन में वो ही द्वेष भावना से मन मस्तिष्क अशांत रहता है जिससे शरीर को आन्तरिक खुशी नहीं मिलती है।इसलिए खुशी वो हो जो दूसरे को खुशी दे जाती है, उस खुशी के अनुभव की बात फिर अलग होती है। ज़िन्दगी में खुशी किन कारणों से दूर होती है? जब जब हम दूसरे को हानि पहूंचाते है या प्रयास करते हैं जिससे हमारे मन में द्वेष भावना पैदा होती है जिससे हमसे खुशी दूर होती है। खुशी पाने के लिए खुशी देना जरुरी है। जिन्दगी जिने के लिए ज़िन्दगी को को करीब से महसूस करिये,हम जो है उसमें खुश रहिये, दूसरों को देखकर जिने का प्रयास करोगे तो जिन्दगी की खुशी समाप्त हो जायेगी। ज़िन्दगी में खुशी तभी संभव है जब हम जिन्दगी को खुलकर