Skip to main content

Posts

Showing posts from December, 2021

स्वयं पर नियंत्रण कैसे रख सकते है? swayam par niyantran kaise rakh sakte hai

खुद को नियंत्रित कैसे रख सकते है |   जीवन में हम हमेशा किसी कार्य को लेकर या कुछ ऐसा हमारे साथ गठित हो जाता है जिससे हम स्वयं को नियंत्रित नही कर पाते है | हम ऐसे परिस्थिति में कुछ गलत कदम उठा लेते है ऐसे में हमे क्या करना चाहिए | उसके लिए हम कुछ टिप्स आपसे शेयर करेंगे |                   हमे हमारी मनः स्थति को सय्यमित रखने के लिए  हमे सबसे पहले धैर्य रखना चाहिए | धैर्य आपकी उस स्थति के परिणाम को कुछ अच्छी जगह पर ही लेकर ही जायेगा | इसलिए जब भी कुछ ऐसी विपरीत परिस्थितियां बनती है उसमे हमे घबराना नहीं चाहिए | हड़बड़ाहट में हम हमेशा कुछ न कुछ गलती कर बैठते है | इसलिए कुछ भी ऐसा होने पर या तो क्रोध को स्वयं पर हावी न होने दे या दुःख की परिस्थिति बनती है तो स्वयं को ऐसा फील होने से रोके की में अंदर से टूट चूका हु या अब में कुछ नहीं कर सकता हूँ |        हमारे मन में उस कमी को जिसे हम पाना चाहते है या किसी चीज जिसे हमे पाने क लिए प्रयास किया था उसके खोने या कम होने पर मन में ये विचार लाना चाहिए की जो गया हे शायद वो हमारे लिए ठीक नहीं था मुझे जिंदगी उससे भी कुछ अच्छा देने जा रही है इसी लि

Happy new year 2022|नये वर्ष पर विशेष शुभकामनाओं सहित

 Happy new year 2022|  नये वर्ष की शुभकामनाओं के साथ  Happy new year 2022|नये वर्ष में  नया क्या करें? बीत गया था वो, अब याद उसे नहीं करना है, नयी मुस्कान के साथ,नयी उम्मिदों के साथ आगे बढ़ना है।हंसना हंसाना है,जीवन को खुशियों के साथ जीना है,बढ़े बुजुर्गों के आशीर्वाद के साथ रहना है। सबके मनमुटाव को भूल कर नयी शुरुआत करनी है, जीवन में आगे बढ़ने की अच्छी शुरुआत करनी है। कुछ नया सा सवेरा उदय होने वाला है, जीवन में बदलाव की सोच रखकर ,कुछ करने निकलना है। समस्याएं लाख थी तेरी पुराने समय की,फिर भी हार ना मानी जीवन में, हमारे जूनून के आगे सब फिके है,ऐसा कुछ करजा इस जवानी में। हिम्मत तेरी कमजोर ना थी ,फिर नयी ऊर्जा के साथ नया साल मनायेंगे, कुछ कर गुजरना है इस बार भी,ऐसा कुछ कर दिखलायेंगे । Happy new year 2022|नया साल कैसे अच्छा हो सकता है? पिछली वर्ष की सिख नये वर्ष में काम आने के बाद हमें पुरानी गलतियों से नयी सिख लेते रहते है नये वर्ष में पुरानी गलतियां नहीं दोहराना चाहिए।हम जीवन में बीते वर्ष में जो समस्याओं व गलतियों से गुजरे हैं उनसे सिख लेते हुए नये कार्य को नूतन वर्ष में करते रहना चाह

जिज्ञासा क्या होती है? Jigyasa Kya Hoti h

  जिज्ञासा क्या होती है? Jigyasa Kya Hoti h  जब कही जाते समय या कुछ नई चिज हमें नजर आती है,जिसको हमने कभी नहीं देखा होता है,ऐसी चिज जब हमारे सामने आती है तो हमारे मन में ये प्रश्न उठने लगते हैं कि ये क्या चिज है? जो हमारे सामने आई है उसे जानने के लिए हम जल्दी से किसी भी व्यक्ति से पूछने की ईच्छा रखते है कि मैं किसी से पूछ कर इस चिज के बारे में जान सकूं,मेरे मन में जो जानने की ईच्छा जाग्रत होती है उसे ही (Curiosity)जिज्ञासा कहा जाता है।   Curiosity| जिज्ञासा प्रवृति के कारण मुझे बहुत कुछ जीवन में सिखने को मिलता है,मैं जब भी कही गुमने जाता हूं कुछ ना कुछ देख कर नयी चिजों के बारे में जानने की ईच्छा करती है यह प्रवृति मेरे अन्दर किसी भी प्रकार के संशय को दूर करती है,मेरे सोचने समझने की क्षमता का विकास करती है,सबसे अधिक मुझे सिखने का अवसर मेरी यही प्रवृति देती है। Curiosity| जिज्ञासा प्रवृति के लोग कैसे होते हैं? इस प्रवृति के लोगों में बार बार प्रश्न पूछने की प्रवृति रहती है ये लोग बहुत ही ज्यादा लिखते है और लिखने की इनके अन्दर ललक रहती है,जहां भी थोड़ा सा भी संशय रहता है,इनके मन में

Adulteration|मिलावट क्या होती है?

Adulteration|मिलावट क्या होती है?  किसी भी वस्तु जो खाने की हो सकती है या किसी भी उच्च गुणवत्ता युक्त चिज में हल्की गुणवत्ता वाली चिज को मिलाकर लाभ कमाने के उद्देश्य से बेचा जाता है,वो मिलावट( adulteration)होती है।मिलावट होने से वास्तविक वस्तु की गुणवत्ता में कमी आ जाती है जिससे या तो वह कम किमत या फिर नुकसान दायक बन जाती है जिससे गुणत्ता विहिन हो जाती है।जब वस्तु को कम किमत में बनाकर उसे उच्च गुणवत्ता युक्त वस्तु के बराबर बेचकर लाभ कमाने का प्रयास किया जाता है,जो मानव के लिए नुकसान दायक होता है।गुणवत्ता को कमजोर कर देती है(adulteration) मिलावट। जिस प्रकार से दूध में पानी मिलाकर दूध का गुणवत्ता को कम किया जाता है ,वो मिलावट होती है ,यानी शुद्ध शब्दों किसी भी वस्तु में की गई मिलावट(adulteration) गुणवत्ता विहिन होती है।  Adulteration|मिलावट के प्रकार  मिलावट (adulteration)कई प्रकार से की जा रही है,जैसे मिर्ची पावडर में,हल्दी ,दूध आदि चिजों में लाभ कमाने के उद्देश्य से मिलावट की जा रही है,मानव ही मानव के शरीर के नुकसान के लिए कुछ फायदा कमाने के उद्देश्य से खिलवाड़ कर रहा है।दुकानदार

office education| कार्यालय शिक्षा कैसी होना चाहिए।

 Office education|कार्यालय शिक्षा पर जानकारी किसी भी कार्य को करने के लिए एक अच्छा तंत्र होना चाहिए ,जो किसी भी कार्य को सूचारु रुप से क्रियान्वयन करता रहे।सुचारु व सही दिशा में किसी कार्य को करवाने के लिए लिए या शिक्षा के क्षेत्र में एक अच्छा कार्य हो उसके लिए प्रत्येक जिला स्तर पर एक office education (शिक्षा कार्यालय) होता है।जिससे पूरे जिले में होने वाली गतिविधियों को ऊपर स्तर तक पहूंचाने व बड़े स्तर की जानकारी को जमीन या आखरी स्तर तक पहूंचाने का कार्य भी कार्यालय के द्वारा होता है। Office education|कार्यालय शिक्षा का उद्देश्य सभी प्रकार के नियम जो उच्च स्तर से निम्न स्तर तक पहूंचाकर उनको मूर्त रुप प्रदान करवाने का कार्य इनका ही होता है। office education|कार्यालय शिक्षा के फायदे जब पूरे तंत्र को सही तरिके से सूचारे रुप में चलाने के लिए निम्न स्तर के कर्मचारियों और उच्च स्तर के कर्मचारियों के बीच समन्वय बना रहता है,व आसानी से किसी भी जानकारी को किसी भी स्तर पर कुछ ही समय में विभाजन के माध्यम से पहूंचाया जा सकता है।जिससे उक्त कार्य में आसानी व सरलता हो जाती है। office education|

Woman power|नारी शक्ति के कार्य।

 नारी शक्ति(woman power) की ताकत  नारी शक्ति(woman power) की कोई सीमा कोई अन्त नहीं है।हम अक्सर यह सोच लेते है कि नारी अबला होता है,जबकि सच्चाई यह है कि नारी की ताकत की कोई सीमा नहीं है वो जो चाहे वो दुनिया में कर सकती है ,असंभव को संभव बना सकती है।नारी शक्ति कभी कमजोर ना कल थी,ना आज है ना कल होगी। उसकी मानसिक क्षमता व उसकी सोचने की क्षमता के द्वारा किये गये कार्यों के द्वारा पूरे संसार के पुरुष वर्ग को झूकाने की शक्ति(power) उसमें होती है।वह अपने सोच के आधार पर मनुष्य को जो चाहे वो करने पर मजबूर करने की ताकत रखती है । हम भी हमारे पाठक नारीयों  से यही कहना चाहेंगे,आप कमजोर नहीं है ,आपकी ताकत की सीमा का कोई पार नहीं है।सृष्टि में कोई ऐसा कार्य नहीं जो आप ना कर सको,या कोई ऐसा कार्य नहीं जिससे आप ना करने पर पराजित हो सके।आपको हिम्मत करके आगे बढ़ने वाले कदमों को रोकना नहीं चाहिए,आपको कदमों के बढ़ते निशानों को देख पूरी दुनिया पिछे पिछे आने पर मजबूर हो जायेगी,अपनो कदमों को बढाकर सम्पूर्ण संसार के कल्याण व विकास में आगे बढ़ाने में अपनी भूमिका अदा करें।आप के कार्यों की कभी उपेक्षा नहीं होगी

Wonder of science|विज्ञान के चमत्कार क्या है?

 विज्ञान (science) किसे कहते हैं? प्रकृति में जो क्रमबद्ध तरिके से जो घटनाक्रम चलता रहता है ,उसे विज्ञान(science) कहते हैं।आज मनुष्य ने विज्ञान(science) के क्षेत्र  काफि ऊंचाई पर कार्य करना प्रारंभ कर दिया है,विज्ञान(science) के माध्यम से आज मानव जीवन सरल व सहज बन किया है,विज्ञान(science) ने कई उपलब्धियां व कार्य मनुष्य के लिए किये है व यह वरदान के साथ साथ एक अभिशाप भी है।   विज्ञान(science)  ने आज मनुष्य को आश्चर्य चकित  किये जाने जैसे किर्तिमान व कार्य किये है। विज्ञान ने किन-किन क्षेत्रों में अपने किर्तिमान स्थापित किए हैं? चिकित्सा के क्षेत्र में  चिकित्सा के क्षेत्र में विज्ञान (science)  ने कई चमत्कार किये है,हार्ट प्लांट से लेकर कई प्रकार के अंगो को व्यक्ति के शरीर में खराब होने पर नये डालने का कार्य  विज्ञान (science)   के कारण ही संभव हो सका है।चिकित्सा क्षेत्र में एम्स से लगाकर सभी प्रकार के संस्थान ने चिकित्सा क्षेत्र में प्रगति करी है।आज केंसर जैसी बिमारियों का इलाज व पोलियों जैसी बिमारियों को लगभग समाप्त सा करने की क्षमता एक मात्र चिकित्सा क्षेत्र में  विज्ञान (scien

Fitness|अच्छी फिटनेस के लिए क्या करें?

 What should I do for good fitness? अच्छी फिटनेस के लिए क्या करना चाहिए? व्यक्ति को आकर्षण व शरीर को फिट रखने के लिए उसके शरीर का फिटनेस fitness अच्छा रखना चाहिए,जिससे उनका शरीर अच्छा दिख सके ,हम किसी को अपने फिटनेस के कारण भी प्रभावित कर सकते हैं।हमारा शरीर स्वस्थ होने पर या फिट रहने पर हम किसी भी प्रकार की बीमारियों से प्रभावित नहीं होते हैं?पेट संबधित सभी बीमारियां लगभग समाप्त सी हो जाती है।   fitness|फिटनेस रहने के लिए क्या करना चाहिए। शरीर को फिट रखने के लिए या फिटनेस(fitness) बनाये रखने के लिए हमें अच्छा व शुद्ध खाना खाना चाहिए।जो हमारे शरीर को सभी विटामिन समय पर देता रहे ,वह हमारा रक्त का व सभी प्रकार का संन्तुलन बना रहे।हमें प्रतिदिन प्रात:कालिन समय में योग,आसान ,अनुलोम विलोम,व्यायाम अवश्य करना चाहिए,व समय मिलने पर जितना हो सके प्रतिदिन दोड़ अवश्य लगाना चाहिए।जिससे हमारा शरीर स्वस्थ रहे।फिटनेस रहने से शरीर में स्फूर्ती बनी रहती है।काम करने की क्षमता का विकास होता रहता है। फिटनेस fitness क्लब में जा सकते है या घर पर भी कर सकते हैं। शरीर की प्रेक्टिस अच्छी हो,या हमारा शर

मसाले (spice) कौन कौन से होते हैं? Masale Kon Kon se Hote H

मसाले कितने प्रकार के होते हैं?How many types are spices? मसाले कई प्रकार के होते हैं,हम अपने उपयोग में लेने वाले मसालों में कालिमिर्च ,जीरा,सौफ,अजवाईन,दालचीनी,जायफल,सूठ,शाहजीरा,तेजपान,पत्थर फूल,बाद्यान फूल,काचरी,धनिया,बड़ी इलायची,जावित्री,घास केसर,नाग केसर,तरी जैसे मसालों की प्रयोग करते हैं। भारत देश एक मात्र ऐसा देश है जो मसालों का सबसे ज्यादा प्रयोग करत है।अन्य देशों में मसाले का बहुत प्रयोग होता है ,भारत से लगे देशों में लगभग कुछ देशों में मसालों का प्रयोग किया जाता है।मसाला भारत में कुछ मात्रा में विदेश से आयात भी किया जाता है।मसालें का प्रयोग लगभग प्रत्येक भारत के घर में होता रहता है।  मसाले का प्रयोग कहाँ कहाँ होता है? मसाले का प्रयोग नियमित रुप प्रत्येक गृहणियां घर में रसोईघर में खाना बनाने के लिए करती है,मसाला प्रत्येक प्रकार की सब्जियां बनाने में उपयोग होता है,मसाले का प्रयोग वेज व नॉनवेज दोनों प्रकार की सब्जियां के लिए होता है।मसाले का प्रयोग कर भारत में कई प्रकार के व्यंजन बनाये जाते हैं,जिसमें मसालों का प्रयोग करते हैं।यह शरीर के लिए औषधीय रुप में लेने पर लाभदायक है।मसाल

विजय तिलक क्या होता है | Vijay Tilak Kya Hota H

विजय तिलक पंक्तियां कौन सी अच्छी है ? जब जब तू जितेगा,ये इतिहास हमेंशा ऐसे ही बतलाएगा, जो भी सामने तेरे आये,वो मूंह की हमेंशा खायेगा। जीवन का राज यही है ,हम जो भी कर जायेंगे, जैसा काम हमारा वैसा नाम पायेंगे। दुश्मन की औकात नहीं ,जो हमसे टकरायेगा , ये खून है इस मिट्टी का,इस मिट्टी के लिए मर मिट जायेगा।देख तेरे होंसले को अच्छे अच्छे वीर भी कांप जायेंगे, हम भी तेरे दिवाने हैं,विजय तिलक पर झूम के नाचेंग।विजय हो विजय की गाथा चारों ओर गुंज उठेगी, गद्दारों की व विरोधियों की निंदें भी खोल जायेगी। विजय तिलक पर हमारे बोल विजय तिलक या किसी की विजय होने पर हम अपनी भाषा के माध्यम से उन्हें प्रोत्साहित व शुभकामनाएं दे सकते हैं।हम जिस वीरता के साथ व जिस सूझ बूझ के द्वारा या रणनिति के तहत हम आगे बढ़ते गये हैं व हमने जित हासिल की है उसके लिए सबको शुभकामानाएं देते है।जिस परिस्थियों में कोई सामने आने को तैयार नहीं था उन परिस्थितियों में हमने वहां वीरता के साथ व सूझबूझ के साथ जीत हासिल करी है,हम अपने क्षेत्र व जनता का व सहयोग करने वाले सभी साथियों का धन्यवाद देते हैं जिनके अथक प्रयासों से हम सब ने मिल य

मेरी प्यारी दोस्त की कहानी || Meri Pyari Dost Ki Kahani

मेरी प्यारी दोस्त की कहानी बताता हूं। जबसे उससे बात हुई है,हमेंशा नीत नया हो रहा है, उसके आने से जीवन में,रोज सवेरा हो रहा है। बड़ी दूर होने के बाद भी,रोज दिल के पास रहने का एहसास है वो, दो दिलों का एक प्यारा सा बन्धन का हिस्सा है दोस्ती, जीवन की परिभाषा बदल दे वो किस्सा है दोस्ती। ना उम्र का बन्धन, ना विचारों का मतभेद है, जो गलत को सही मान ले,वा ठीक है यार तू सही है वो विचार हो दोस्ती। याद जब तेरी आती है,मुस्कुरा लेते है हम, तेरी देस्ती के खातिर ,ना मिलने पर भी तेरे होते है हम। एक प्यारा दोस्त जीवन का सच्चा सार्थी होता है, हर सुख दुख में साथ देने वाला सच्चा साथी होता है। दु:ख हो या सूख हमेंशा साथ देता है सच्चा दोस्त, मूसिबत में बन कर मसिहा ,साथ निभाता है दोस्त।   मेरी प्यारी दोस्त है ,जिसके ना कहने पर भी आंखो से मन की बात समझ लेता हूं।ऐसा ही ये प्रेम का बंधन है।जिसके कारण हम दोस्त को अच्छे दोस्त मिल पाते है।हम दूर रहकर भी प्यार के एहसास को समझ लेते हैं ,ऐसी हमारी दोस्ती की कहानी है। दोस्त से बढ़कर कुछ ओर हो नहीं सकता है, साथ दे जो अपना दूजा कोई हो नहीं सकता है। स्कूल के समय बचपन

मेरा भारत महान पर निबंध || Mera Bharat Mahan Pr Nibandh

 मेरा भारत(INDIA) महान पर निबंध लिखिए write on essay on india भारत (india)देश एक ऐसा देश है जहां प्रत्येक समुदाय ,प्रत्येक वर्ग व विभिन्न बोलियों व विभिन्न क्षेत्रों में क्षेत्रिय संस्कृति को देखने के बावजूद पूरा देश एक जूटता के साथ राष्ट्र हित में लगा रहता है।भारत देश में ये भिन्नताओं की संस्कृति व उनके पर्व मन को मोह लेते है। ये पर्व भारतीय संस्कृति व उन संस्कृति से समुदायों में आपसी भाई चारा बना हुआ है।   भारतीय समाज में विभिन्न प्रकार की भिन्नताओं का समावेश है।हर क्षेत्र में पहनावे से लेकर बोली व रितिरिवाज अलग अलग है।भारतीय समाज में अतिथियों को उच्च दर्जा समाज द्वारा दिया जाता है,भारत(india) देश आज विश्व पटल पर अपनी अलग पहचान बना रहा है। India|भारत की विशेषता भारत(india) देश की बहुत सारी विशेषताएं है ,जो विश्व पटल पर भारत का दर्जा ऊंचा करता है।भारत के पास आज अधिकांश चिजों का उत्पादन स्वयं करने लगा है।भारत आत्मनिर्भर बनने के लिए अग्रसर है।भारत में कई प्रकार के ऐसे कार्य है जिन्हें चौका कर रख दिया है।भारत में प्राचीन दार्शनिक स्थल बहुत सारे है जहां विदेशों से भी स

customer|ग्राहक के साथ हमारा व्यवहार

 customer|ग्राहक के साथ हमारा व्यवहार कैसा होना चाहिए। Customer(ग्राहक) वह व्यक्ति होता है जो आपके व्यवसाय का भविष्य तय करता है,आपके व्यवसाय को कितनी ऊंचाईयों पर ले जाना है ये सब उनकी भूमिका से तय होता है।ग्राहक हमारे व्यवसाय का अहम् हिस्सा है।उनके साथ  हमारा व्यवहार आत्मियता का होना चाहिए।ग्राहक के साथ हमेंशा शालिनता से बात करना चाहिए।ग्राहक जब भी हमारे व्यवसाय पर कुछ खरीदने आता है तो हमारी जिम्मेदारी बनती है हमारे आचरण व व्यवहार व बोली की कुशलता से वह प्रसन्न रहे साथ ही हमारे व्यवसाय की सामग्री को हम अच्छी तरह उसके समक्ष प्रस्तुत कर सके।ताकि वह प्रसन्न होकर दोबारा आपके प्रतिष्ठान्न पर फिर पर आता है।जब आपके व्यवसाय पर कस्टमर दोबारा आता है यानी वह आपकी कार्यशैली व आपके व्यवहार व आपकी सामग्री से वह संतुष्ट है।  ग्राहक(customer)की संतुष्टि के लिए क्या कर सकते हैं ? ग्राहक हमेंशा यही सोच लेकर आपकी दूकान या जहां आप व्यवसाय कर रहें है पर आता है कि आप उसके साथ किस प्रकार से बात करते हैं या संतुष्टि प्रद आपका कार्य होता है।हमें ग्राहक को संतुष्ट करने के लिए उसकी इच्छानुसार चिजों को बताना चा

दशरथ मांझी की कहानी || Dashrath Manjhi ki kahani

 दशरथ मांझी की जीवनी दशरथ मांझी का जन्म बिहार के गया में हुआ था ,बिहार के गया के पास एक गांव गहलौर है जो उनकी जन्म स्थली है।उनका  जन्म 14 जनवरी 1929 को हुआ था ,आपका जीवन आपकी दृढ़ निश्चता के कारण प्रसिद्ध हो गया ,उनके जीवन में  लक्ष्य निर्णाधरण के कारण उन्होंने जो सोचा वह कई वर्षों के संघर्षों के परिणाम के कारण उन्हें प्रसिद्धि मिली, हमारे जीवन में भी सफलता एक दिन में नहीं मिलती हैै पर एक दिन जरुर मिलती है।                  जीवन में सफलता के लिए वर्षों तक संघर्ष कर मन में विश्वास लेकर निरन्तर कार्य को करते रहने से उनके अन्दर इतनी उम्र होने के बाद भी विश्वास कम नहीं हुआ और वो सफल होने में कामयाब हुए। दशरथ मांझी की प्रसिद्धि का कारण दशरथ मांझी जब कार्य के लिए बाहर जाते थे तो उन्हें एक पहाड़ को पार करके काम के लिए जाना पढ़ता था,लेकिन अगर उस पहाड़ को पार नहीं करते हैं तो दूसरे रास्ता बहुत ज्यादा लम्बा पढ़ता है ,उसकी वजह से दशरथ मांझी हमेंशा पहाड़ को पार करके ही जाया करते थे ।एक दिन प्रतिदिन की भांति जब दशरथ मांझी काम पर गये हुए थे ,व उनकी पत्नि फाल्गुनी देवी रोज की तरह उन्हें खाना देने पहा

किताबे हमारी अच्छी दोस्त होती है।

 किताबे हमारी अच्छी दोस्त है। किताबें हमारे  जीवन का हिस्सा है, कुछ कर गूजरने ने के बाद का किस्सा बनाती है। जो अज्ञानी को ज्ञानी बना सकती है , जो गिरे हुए को उठा सकती है । ऐसी ताकत बिना हाथ पैर वाली है, जो इंसानों की होती रखवाली है। सिख जीवन की देती है ये, कुछ कर  गूजर जा कहती है ये। हमारी ये अच्छी दोस्त होती है,। हर रास्ते का सहारा होती है। पुस्तके हमारी दोस्त कैसे है?  हमें जब किसी राह को आसान करना है ,उस राह से जूड़े अच्छे लोगों के द्वारा लिखी हुई पुस्तकों का अध्ययन करने पर हमारी सारी समस्याएं का सामाधान आसान हो जाता है,जब हमें लगता है हमारा साथ कोई नहीं दे रहा है मुझे मेरे जीवन में आगे बढ़ना है कुछ हासिल करना है उसके लिए सिख सबसे बड़ी कुंजी है जिसके माध्यम से हर रास्ते या हर बड़ी सफलता भी छोटी लगती है ,और वो सिख हमें पुस्तकों के अध्ययन के माध्यम से मिलती है ,जहां कोई साथ नहीं देता वहां ये हमें सिखाती है इसलिए कहते हैं ये हमारी एक अच्छी दोस्त होती है।  पुस्तकालय वो जगह है जहां सम्पूर्ण सिख(learn) की दुकान है,जिस प्रकार की चिज( ज्ञान) हमें चाहिए ,वो उपलब्ध हो जाती है।ये वो दोस्त  है

good morning| गुड मोर्निंग कैसे करें?

 Good morning thought सुबह सुबह जब मैं उठता हूं तो मेरे प्यारे दोस्त को मैं कुछ इस तरह Good morning विश करता हूं। Good morning friend  देख उठ जमाना जाग गया है, तू फिर किसके खयाल में फिर से सो गया है। जमाने को कुछ कर के दिखाना होगा, नहीं तो जैसे आये हो वैसा ही जाना होगा। good morning dear जमाना क्या सोचता है तेरे काम के बारे में, परवाह छोड़ ,उठ दिखादे अपने बारे में। मैं भी जिन्दा हूं,यकीन होना चाहिए जमाने को, ये जमाना बड़ा पत्थर दिल है,              कुछ करके दिखादे,अपने करतब के निशाने से। good morning तू उठ जमाना जाग गया है,सपनों के महल खड़ा हमें करना है, जिस नींव पर बनेगा तेरा महल,उसके लिये संघर्ष तूझे करना है। समय की गति बढ़ी तेज है, अपने सपनों के लिए हमें, मेहनत उतनी करना है, जमाना लाख कोशिशें करे गिराने की,फिर भी नहीं हारना है। Good morning my best friend ये किरणे सूबह की कभी तूझे उठाये नहीं, ये किरणें हमें तब अहसास कराये जब हम किसी जगह कार्य में व्यस्त हो, क्योंकि जीवन के संघर्ष में हमें कामयाबी वही मिलेगी, जहां हमारे पंखों की उड़ान की कामयाबी खिलेगी। good morning  दुनिया को कुछ दि

polution|प्रदूषण का मानव जीवन पर प्रभाव

 प्रदूषण(polution) का मानव जीवन पर असर प्रदूषण का मानव जीवन पर बुरा प्रभाव पढ़ता है।मनुष्य की आंखों ,फेफड़ो जैसी चिजों पर प्रदूषण का असर पढ़ता है जिससे मानव समुदाय को बहुत सारी बिमारियों का सामना करना पढ़ता है।प्रदूषण के प्रभाव से सांस लेने से लेकर सांस संबंधित कई प्रकार की बीमारियों का जन्म होता है।मानव समुदाय के ऊपर आने वाले समय में प्रदूषण की गति को नियंत्रित करना अति आवश्यक हैं ,यह सम्पूर्ण सृष्टि जगत के लिए हानिकारक होता है।  प्रदूषण(polution) के दूष्प्रभाव क्या क्या है? Vehicle प्रदूषण के दूष्प्रभाव से मानव जाति पर संकट गहराया हुआ है।प्रकृति में बहुत सारे परिवर्तन मानव की वजह से होने के कारण ऐसे संकटों का सामना करना पढ़ रहा है ,जिसमें एक ये प्रदूषण भी महत्वपूर्ण है। प्रदूषण से फेफडे़,सांस ,दमा जैसी बीमारियों का कारण भी कुछ हद तक प्रदूषण होता है,हर जगह हम दूषित चिजों के सम्पर्क में आने से इन जैसी बीमारियों से ग्रसीत व त्वचा संबंधित रोग होना भी प्रदूषण का कारण बन रहा है।प्रदूषण अत्यधिक बढ़ने के कारण हमारे वायुमंडल में ओजोन परत में छिद्र हो गया है,जिससे प्रकाश की किरणें सिधे जमीन पर

दोस्त|एक अच्छे दोस्त की 10 अच्छी बातें।

 अच्छे दोस्त की 10 अच्छी बातें 1. एक अच्छा मित्र हर परिस्थितियों में साथ रहते हैं,किसी भी परिस्थियों का सामना करने के लिए तैयार रहते हैं,वे सुख व दु:ख होने पर भी हमारे साथ रहते हैं। 2. अच्छे दोस्त आपके साथ मुसिबत आने पर भी साथ रहेंगे, तब तक रहेंगे, जब तक आप किसी भी तरह से सामान्य स्थिति में नहीं आ जाये। अच्छे दोस्त बुरे समय में कभी साथ नहीं छोड़ते हैं। 3. वे हमेंशा किसी भी कार्य को करने के लिए सहयोग के रुप में हमारा साथ देते हैं। 4. अच्छा दोस्त गरीब अमीर नहीं देखता है,वह पैसा देखकर व्यवहार नहीं करता है। 5.अच्छा दोस्त दोस्ती  का मतलब समझता है,  ये वो दोस्त है।दोस्त छोटा बड़ा नहीं होता है,ये अहसास ना कराये वो अच्छा  दोस्त होता है। 6.दोस्त के लिए झूक जाये वो आपका अच्छा दोस्त है, दोस्त दोस्ती के लिए झूक जाय वो आपका सच्चा दोस्त है। 7. दोस्त की दोस्ती पैसा देखकर ना की गई हो वो आपका अच्छा दोस्त हो सकता है। 8.दोस्त हमारे मुसिबत में साथ खड़ा रह सके वो हमारा अच्छा दोस्त होता है। 9. जो हमारे गलत कार्यों की सफाई कर दे, हमारे अच्छे दोस्त होते हैं। 10. मित्र सच्चा होना चाहिए,व निर्लोभी होना चाहिए। द

Brilliant|प्रतिभावान व्यक्ति कैसा होता है?

  Brilliant |प्रतिभावान व्यक्ति के 10 गुण 1.प्रतिभावान(Brilliant) व्यक्ति की सोच मन्द बुद्धि या सामान्य बुद्धिलब्धी के व्यक्तियों से तीव्र होती है। 2.वह किसी भी कार्य को बढ़ी चतुराई के या अच्छे तरह से करने में माहिर रहते हैं।3.उनके सोचने समझने व याद रखने की क्षमता अत्यधिक रहती है।  4.वे अपनी सोचने की क्षमता मजबूत होने से आसानी से किसी चिज या बात को भूलते नहीं है।  5.सामान्य व्यक्तियों से अधिक समझ बुद्धि के व्यक्ति रहते हैं, वे छात्र जीवन से ही अपने मन मस्तिष्क के विकास के क्रम को निरन्तर प्रगति की ओर बढ़ते रहते हैं।6.पढ़ने लिखने में भी छात्र जीवन में सभी अन्य छात्रों से तीव्र बुद्धि के रहते हैं,इनकी बुद्धिलब्धी तीव्र होती है। 7.व्यवसाय करने में अच्छे से माहिर रहते हैं,वे लाभ का धंधा करने में बेहतर सिद्ध होते हैं। 8. अत्यधिक सोच रखने के कारण पारिवारिक समस्या को निपटने या परिवार में सामंजस्य स्थापित कर सकते हैं। 9. परिवार के साथ देश हीत का चिंतन करने वाले होते हैं। 10.परिपक्व व बुद्धिजीवी वर्ग की श्रेणी में आते हैं। Brilliant|प्रतिभावान व्यक्ति का स्वभाव प्रतिभावान(Brilliant) व्यक्ति का

वाहन किसे कहते हैं ?Vahan kise kahte h

 vehicle|वाहन किसे कहा जाता है। जो किसी वस्तु या शरीर को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने में सहयोग प्रदान करते हैं,वाहन कहलाते है।वाहन का उपयोग सामान्यत: व्यक्ति किसी जगह जाने के लिए या फिर किसी वस्तु को कही पर जो व्यक्ति की क्षमता से कही गुना ज्यादा वजन को कही पर भी कुछ ही समय में पहूंचाता है।वाहन बहुत ही उपयोगी साधन है।यह सामान्यत: पेट्रोल,डिजल या गैस से चलने वाले साधन होते हैं।   सभी वाहन अलग अलग प्रकार के होते हैं,किसी वाहन तीन पहिया तो कोई वाहन दुपहिया या चार पहिये वाले वाहन भी रहते हैं।कुछ वाहन आकाश में उड़ने वाले है तो कुछ पानी में तैरने वाले भी रहते है। VEHICLE(वाहन के प्रकार) वाहन (vehicle) कई प्रकार के होते हैं, 1. कुछ वाहन(vehicle) जो एक स्थान से दूसरे स्थान पर सवारी को ले जाते हैं जैसे -बस ,मोटरसाईकिल,जहाज,साईकिल,कार, जीप आदि। 2. कुछ वाहन(Vehicle)वजनी माल को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने का कार्य करते है। जैसे ट्रेक्टर,ट्रक,लोडिंग वाहन इनके अन्तर्गत आते है। VEHICLE|वाहन को चलाते समय क्या सावधानी रखनी चाहिए। किसी भी वाहन को चलाते समय हमें बहुत सारी बातें है जिन्हें ध

स्वस्थ आहार कैसा होना चाहिए?-Healthy food in hindi language

मनुष्य के लिए स्वस्थ आहार(health food) कैसा हो। स्वस्थ जीवन में स्वस्थ आहार( Healty food) बहुत जरुरी है,जीवन में व्यक्ति को हमेंशा अपना आहार स्वस्थ लेना चाहिए।हमारे भोजन में विटामिन्स , प्रोटीन व सभी प्रकार के संतुलित तत्व उपलब्ध हो इस प्रकार का आहार करना चाहिए,हम जिस प्रकार का आहार ग्रहण करेंगे ,हमारा मस्तिष्क भी वैसी प्रतिक्रियाएं करने लगेगा,हमारा शरीर भी उसी अनुरुप क्रियाएं करेगा। कहते है जैसा खाओगे अन्न वैसा हो जायेगा मन्न।इसलिए हमें सन्तुलित आहार करना चाहिए। हमारे भोजन में सब्जियों के रुप में हरि सब्जियां या उपयुक्त मात्रा में जो आवश्यक तत्व जिन चिजों को खाने से मिलता है हमें खाना चाहिए।हमारा आहार सन्तुलित होना चाहिए।हमें किसी भी प्रकार से अनावश्यक चिजों का सेवन करने से बचना चाहिए।   Health (स्वास्थ्य) कैसा हो? हमारे जीवन में खुशीयां लाने के लिए या अच्छा कार्य करने के लिए हमें हमारे स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए,हमारा स्वास्थ्य ना बिगड़े इस हेतु हमारा आहार(food) अच्छा होना चाहिए,जिससे शरीर के लिए उपयुक्त आहार मिलता रहता है। Health(स्वास्थ) अच्छा रहे उसके लिए नियमित रुप व समय पर

Good Habits(अच्छी आदतें)

 Good habits(अच्छी आदतें) का जीवन पर प्रभाव हम सामान्य तरह से हमारा जीवन जीते है ,पर हमें प्रभावशाली जीवन जीनें के लिए हमें हमारी आदतों में बदलाव की जरुरत होती है।हमारा जीवन हम किस प्रकार से जी रहे हैं उसमें कुछ ऐसी आदतों को हम जोड़।सकते है जिससे हमारे जीवन में बहुत बढ़ा बदलाव आ सकता है।ऐसी कुछ आदतें है जिन्हें हम सब जानने के बाद भी कर नहीं पाते है ऐसे बदलाव के बारे में आपको बतायेंगे। 10 Good Habbits(10 अच्छी आदतें) कौन कौन सी है ? 1.हमें जीवन में समय बद्धता का विशेष ध्यान रखने की जरुरत है,समय का जीवन में बहुत बढ़ा महत्व है।हमें किसी भी समय पर पहूंचना या जाना है तो समय पर पहूंचने पर ही आप सफल हो जायेंगे।मान लो आप इंटरव्यू के लिए किसी तय समय में पहंचने वाले थे ,वहां समय पर नहीं पहंचने पर आप जिस क्षेत्र में जितने वर्षों से मेहनत कर रहे थे ,या उस क्षेत्र में नौकरी का इंतजार कर रहे थे ,वो सब हाथ से छूट जायेगा,वो सिर्फ समय की वजह से ,इसलिए हर कार्य समय से करें। 2.आप सुबह जल्दी उठिये,व रात को जल्दी सोना सिखिये,जिससे आपको दिन भर ताजगी सा महसूस होगा,आप कभी भी उदास ना रहकर चहरा खिला हुआ दिखेगा,

Winter season(शरद ऋतु)

 Good morning frinds. शरत ऋतु में सुबह का आलम आज सुबह सुबह ठंडी तेज लग रही थी सुबह की शुरुआत आज मेरी प्यारी गुड़िया ने good morning  पापा कह कर उठाकर पुरे दिन को खुशियों से पहले ही भर दिया है,ठंड लग रही है मैं फिर उठने का प्रयास कर रहा था ,एक ओर सोच रहा हूं थोड़ी देर और सो जाओ,फिर सोच रहा हूं नहीं कार्य पहले जरुरी है ,जल्दी उठना स्वास्थ्य और भविष्य के लिए फायदेमंद है।सोच कर उठ जाता हूं,सामने एक फूल सा कोमल सा चेहरे नन्हीं सी मुस्कान लिए सामने खड़ी है।मैंने उठ कर गरम पानी पिने के लिए जो प्रतिदिन मेरी दिनचर्या में रहता है,गरम करके 1 गिलास पानी पिया ,फिर कुछ देर बाद नित्य क्रिया करने के पश्चात में हमेंशा की तरह आज भी दोड़ने के लिए पहूंच जाता हूं।  दोड़ स्थल का नजारा  (good morning all dear friends) दोड़ स्थल पर प्रतिदिन की भांति आज भी समय पर पहूंच गया था ,पर आज कुछ हमेंशा की तरह वहां कुछ नजारा अलग दिख रहा था, मैं वहां पहूंचा तो बीन मौसम के बादल से हल्की हल्की बूंदे गिर रही थी ,वैसे ही सर्दी के मौसम ठंडी लग रही थी उपर से ये बीन मौसम बादल होने से बहुत ही ज्यादा ठंड लग लगने लगी है।  वहां के

Love(प्रेम) क्या है?

 Love(प्रेम) का शाब्दिक अर्थ प्रेम वह बंधन है जिसको शब्दो से नहीं परिभाषित किया जा सकता है,प्रेम एक एहसास है जो एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के मन की बात या उसकी भावना बीना कुछ बोले समझ जाये वो प्रेम है।प्रेम की परिभाषा आज कुछ इस तरह वासना के रुप में देखी जाने लगी है,लेकिन प्रेम वह अहसास है वह बंधन है जो दिलों को जोड़ने का कार्य करता है।प्रेम को परिभाषित नहीं किया जा सकता है,इसे महसूस किया जा सकता है ।प्रेम भाई-भाई ,भाई-बहिन ,मां-बेटा,पति-पत्नि के बीच या संगे संबंधि या दोस्त या जिन्हें हम पसन्द करते है या जिनसे हमारे विचार मिलते है किसी के भी बीच हो सकता है।  प्रेम पशु व मनुष्य के बीच हो सकता है।प्रेम एक माला के मोतियों की तरह रहता है जो धीरे धीरे धागे में पिरोने पर एक माला का रुप ले लेता है,अगर हल्का सा भी झटका लगता है तो प्रेम भी माला की तरह टूट के बीखर जाता है।  मां बेटी का प्रेम(LOVE) मां एक बेटी को जन्म देते समय कितनी ही पीड़ा भोगकर उसे जन्म देती है,फिर भी मां उस पिड़ा को भूलकर बेटी के जन्म की खुशी में उस पीड़ा को भूल जाती है,वो प्रेम ही है जिसे एक मां को बेटी के रुप में जन्मदेकर पीड़